Pyar Bhari Chahat Shayari

 दोस्तों आज हम आपके लिए Pyar Bhari Chahat Shayari लेकर आये हैं। आज हम प्यार करने वालो के लिए चाहत शब्द को बहुत ही बेहतरीन और चुनिंदा शायरी के माध्यम से बताने जा रहे हैं, यहाँ आप चाहत से जुड़ी हर तरह की शायरी पड़ सकते हैं और और अपने चाहने वालो को शेयर कर सकते हैं, यहाँ आपको मिलेगा Pyar Bhari Teri Chahat Shayari in Hindi for Girlfriend Boyfriend, Sad Chahat Sms on Love & Life for Lover, चाहत शायरी हिंदी में, 2 Lines Chahat Status on Love in Hindi Characters, Broken Heart Shayri for Her & Him, Chahat Shayari Image for Love Couple and many more.Chahat Shayari

Koi hai jiska is dil ko intjaar hain,
Khayalon main bas usi ka khayal hain,
Khushiyaan main saari us par luta dun,
Chahat mai uski mai khud ko mita dun,
Kb ayega wo jiska is dil ko intjaar hain.
तन्हाईयों में मुस्कुराना इश्क है
एक बात को सबसे छुपाना इश्क है
यु तो नींद नहीं आती हमें रात भर
मगर सोते-सोते जागना और जागते-जागते सोना इश्क है
चाहत वो नहीं जो जान देती है
चाहत वो नहीं जो मुस्कान देती है
ऐ दोस्त चाहत तो वो है
जो पानी में गिरा आंसू पहचान लेती हैं
घर से बाहर वो नक़ाब मे निकली
सारी गली उनकी फिराक मे निकली
इनकार करते थे वो हमारी मोहब्बत से
ओर हमारी ही तस्वीर उनकी किताब से निकली
हो जा मेरी कि इतनी मोहब्बत दूँगा तुझे !
लोग हसरत करेंगे तेरे जैसा नसीब पाने के लिए !!
इश्क दो जिंदगी का अफसाना हैं !
इश्क का अपना ही एक तराना हैं !
पता हैं सब को मिलेंगे सिर्फ आंसू पर
न जाने दुनियाँ में हर कोई क्यूँ इश्क का ही दीवाना हैं !!
अपनी जुबान से किसी की बुराई मत करो !
क्योंकि बुराईयाँ तुममें भी हैं और ज़ुबान दूसरों के पास भी है !!
Khuda mujh par ek nazar kar de,
Us ajnabi ko mera humsafar kar de,
Jb bhi wo saans le use mera naam sunai de
Meri chaahat ka us par is kadar asar kar de.
Aankho ko jab kisi ki chahat ho jati hai,
Usey dekh ke hi dil ko rahat ho jati hai,
Kese bhool sakta hai koi apni chahat ko
Jab kisi ko kisi ki aadat si ho janti hain.
काश ये शाम कभी ढले ना,
काश ये शाम मोहब्बत का रुके ना,
हो जाए आज दिल की चाहते सारी पूरी
और दिल की कोई चाहत बचे ना..।।
बिन बात के ही रूठने की आदत है,
किसी अपने का साथ पाने की चाहत है,
आप खुश रहें, मेरा क्या है..
मैं तो आइना हूँ, मुझे तो टूटने की आदत है।
महफ़िल में गले मिल के वो धीरे से कह गए,
ये रस्म-ए-अंजुमन है चाहत का गुमाँ न कर।
Na chaaho itna hme, chahto se dr lgta hai,
Na aao itna kareeb, judai se dar lagta hain,
Tumhari wafaaon pe bharosaa hain,
Magar apne naseeb se mujhe dar lagta hai.



Jisko chaho use chahat bta bhi dena,
Kitna pyar hai usey ye jata bhi dena,
Ki kahi dil uska kahi aur na lag jaye,
Karke izhar uske dil ko chura bhi lena.
तड़प के देखो किसी की चाहत में !
तो पता चले कि इंतज़ार क्या होता है !
यूँ ही मिल जाये अगर कोई बिना तड़पे !
तो कैसे पता चले के प्यार क्या होता है !!
कब उनकी पलकों से इज़हार होगा !
दिल के किसी कोने में हमारे लिए प्यार होगा !
गुज़र रही है रात उनको यादो में !
कभी उनको भी हमारा इंतज़ार होगा !!
आप जिस पर आंख बन्द कर के भरोसा करते है !
अक्सर वही आप की आंखे खोल जाता है !!
आधे दुःख गलत लोगो से उम्मीद रखने से होते है !
और बाकी आधे सच्चे लोगो पे शक करने से होते है !!
Jo kuchh bhi mila hain usi mein khush hoon,
Main tere liye khuda se taqraar nahi karta,
Par kuchh to baat hain teri fitrat mein,
Zalim wrna tujhe chahne ki khata baar-baar nhi krta
चाहत बन गये हो तुम या आदत बन गये हो तुम.. हर सांस में यू आते जाते हो जैसे मेरी इबादत बन गये हो तुम।
Meri har chahat se pehle ek chahat hogi,
Wo chaahat naa jaane kaun hogi,
Ab to chahna hi reh gya hai zindagi mein,
Naa jane ye chaahat kab puri hogi.
हमारी गलतियों से कही टूट न जाना,
हमारी शरारत से कही रूठ न जाना
तुम्हारी चाहत ही हमारी जिंदगी हैं
इस प्यारे से बंधन को भूल न जाना..।
कोई चाहत की बात करता है
तो कोई चाहने की…।।।
हम दोनोँ आज़मा के बैठे हैँ..
ना चाहत मिली..ना तो चाहने वाले.!!
तेरे ख़ातिर हम ने सारी दुनिया को भुला दिया
तू ने तो दुनिया के लिए अपने सच्चे चाहने वाले को ही भुला दिया।
कुछ न कहा, खामोशी से मेरा हाथ छोड़ दिया
हस्ते-हस्ते तू ने मुझे रुला दिया।।
मिलने की चाहत भी थी
ज़माने का डर भी था।
शिकायत दुनिया से थी
साथ में तुझे खोने का डर भी था।
Pehli bar chaaha tha kisi ko, par pa naa sake,
Kbhi bhi rulaya nhi unko pr hasa bhi na sake,
Bahut pyaar karte the hum unse,
Par chaah kar bhi unhe kabhi ye bata na sake.